NGO Full Form & Meaning in Hindi | एनजीओ का फुल फॉर्म क्या होता है?

कई बार मन करता है कि किसी के लिए कुछ किया जाए, जिनका कोई अपना नहीं है, उनके साथ समय बिताया जाए या फिर समाज सेवा की जाए। चाहे हमारे पास सब कुछ क्यों न हो, लेकिन फिर भी लगता है कि यार, अभी कुछ तो है जो करना बाकी है। अगर आप भी किसी के लिए कुछ करना चाहते हैं या फिर समाज सेवा करना चाहते हैं, तो अपने एनजीओ का नाम जरूर सुना होगा।

तो आज की इस पोस्ट में हम एनजीओ के बारे में जानेंगे कि एनजीओ क्या होता है, इसके फुल फॉर्म क्या होती है (एनजीओ का पूरा नाम हिंदी में), एनजीओ कैसे काम करता है, आप एनजीओ को कैसे ज्वाइन कर सकते हैं या फिर अगर आप खुद का एनजीओ खोलना चाहते हैं तो आप कैसे एनजीओ खोल सकते हैं? तो इन सभी सवालों से जुड़ी जानकारी पाने के लिए अंत तक हमारे पोस्ट से जुड़े रहिए। तो चलिए शुरू करते हैं।

एनजीओ का फुल फॉर्म क्या होता है?

एनजीओ का फुल फॉर्म “नॉन गवर्नमेंटल आर्गेनाइजेशन” होता है। इसे हिंदी में “गैर-सरकारी संगठन” कहते हैं। NGO एक प्राइवेट संस्था है जो केंद्रीय सरकार के सोसाइटी एक्ट के तहत काम करता है।

NGO Full Form In English

NGO का इंग्लिश में फुल फॉर्म “Non-Governmental Organisation” होता है।

  • N – Non
  • G – Governmental
  • O – Organisation

एनजीओ क्या होता है?

दोस्तों, अपने ऊपर पढ़ ही लिया होगा की एनजीओ का पूरा नाम Non-Governmental Organisation है, जिसे हिंदी में गैर-सरकारी संगठन कहा जाता है। यह एक ऐसा संगठन होता है जिसमें सरकार की कोई भूमिका नहीं होती और ना ही उसका कोई कंट्रोल होता है। एनजीओ का उद्देश्य समाज के कल्याण से जुड़ा होता है और यह संगठन समाज के जरूरतमंद लोगों की मदद करता है। एनजीओ गरीब-अनाथ बच्चों की शिक्षा, महिलाओं की सुरक्षा, बेसहारा लोगों को आवास दिलाने जैसे काम करता है।

एनजीओ खोलने के लिए सामाजिक उद्धार के इरादे के साथ-साथ बहुत सारे पैसे, मेहनत और परिश्रम की ज़्यादा ज़रुरत होती है। यह संस्था लाभ कमाने वाली किसी भी कंपनी की तरह काम नहीं करती, बल्कि लोगों को सहायता करने के लिए पैसे का प्रबंधन करके सभी आवश्यक सहायता प्रदान करने का प्रयास करती है। अर्थात, हम कह सकते हैं कि यह एक बहुत ही जिम्मेदारी भरा काम है।

गैर-सरकारी संगठन के प्रमुख कार्य कौन से है?

गैर-सरकारी संगठन (एनजीओ) के कुछ प्रमुख कार्य इस प्रकार होते हैं:

  • लोगों की मदद करना।
  • गरीब अनाथ बच्चों को शिक्षा देना।
  • किताबें बाँटना।
  • वृद्ध लोगों की मदद करना।
  • बेसहारा लोगों को घर दिलाना।

एनजीओ कैसे जॉइन करे?

अगर आप किसी NGO का हिस्सा बनकर लोगों की मदद करना चाहते हैं, तो आप NGO कैसे ज्वाइन कर सकते हैं, इसी के बारे में अब हम आगे जानेंगे। अगर आप किसी NGO को ज्वाइन करना चाहते हैं, तो आप दो तरीकों से इसे कर सकते हैं।

  1. आप किसी NGO का हिस्सा बन सकते हैं।
  2. आप अपना खुद का NGO बना सकते हैं।

इसमें सबसे पहला तरीका आसान है क्योंकि अपना खुद का NGO खोलने के लिए बहुत सारा पैसा चाहिए होता है। एक NGO का हिस्सा बनने के लिए आपको अंदर लोगों की मदद भावना होनी चाहिए और अगर आपके अंदर समाज सेवा की भावना है, तो आप इस उद्देश्य के साथ किसी भी NGO को ज्वाइन कर सकते हैं। दूसरा, अगर आपने BSW या MSW जैसा कोर्स किया है, तो आप इंटर्नशिप के लिए किसी भी NGO में ज्वाइन कर सकते हैं।

अपना खुद का NGO कैसे खोले?

अपना स्वयं का एनजीओ खोलना कोई आसान काम नही है। इसके लिए आपको तीन चरणों का पालन करना होता है।

Step 1: NGO खोलने का कारण और मिशन तय करना।

सबसे पहले आपको NGO क्यों खोलना है और समाज के किस वर्ग की मदद करना चाहते है, इस पर सोचना होगा। आप महिलाओं के अधिकारों का समर्थन करना चाहते हैं, या बच्चों के भले के लिए NGO खोलना चाहते हैं, या फिर पर्यावरण को बचाने का उद्देश्य है। इसे तय करने के बाद ही आपको अपने इस NGO मिशन के पर्पस, लक्ष्य और लक्ष्य समूह का स्पष्टीकरण करना होगा।

Step 2: बोर्ड, डायरेक्टर और सदस्यों को शामिल करना।

जैसा कि किसी भी कंपनी को चलाने के लिए बोर्ड, डायरेक्टर और सदस्यों की आवश्यकता होती है। इसी तरह, NGO को चलाने के लिए भी बोर्ड, डायरेक्टर और सदस्यों की आवश्यकता होती है। फर्क सिर्फ इतना है कि कंपनी के बोर्ड सदस्यों को लाभ के बारे में सोचना होता है, जबकि NGO के बोर्ड में ऐसे डायरेक्टर और सदस्य होते हैं जो सेवा की भावना रखते हैं और समाज के हित के लिए काम करना चाहते हैं।

Step 3: NGO का नाम रखना।

किसी भी कंपनी का नाम उसके लिए महत्वपूर्ण होता है, ठीक वैसे ही, NGO का नाम तय करना भी बहुत महत्वपूर्ण होता है। भारत में कुछ NGO के उदाहरण हैं – गूंज, चाइल्डलाइन, महिला दक्षता और ग्राम विकास ट्रस्ट। NGO का नाम चुनते समय, ध्यान दें कि यह नाम सरकारी बोर्ड या पंजीकृत कंपनी के नाम के साथ मेल नहीं खाना चाहिए।

आज आपने क्या सीखा?

आशा है कि आपको हमारी जानकारी पसंद आई होगी। इस लेख के द्वारा आपको पता चला होगा कि NGO क्या होता है, इसके फुलफॉर्म क्या होती है (NGO Full Form In Hindi), NGO कैसे काम करता है, आप NGO को कैसे ज्वाइन कर सकते हैं या फिर अगर आप खुद का NGO खोलना चाहते हैं तो आप कैसे NGO खोल सकते हैं? अगर आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी है, तो कृपया इस पोस्ट को अपने दोस्तों तक शेयर करें। धन्यवाद…

Share your love
अभिषेक प्रताप सिंह
अभिषेक प्रताप सिंह

राम-राम सभी को मेरा नाम अभिषेक प्रताप सिंह हैं, मैं मध्य प्रदेश का रहना वाला हूँ। हिन्दीअस्त्र पर मेरी भूमिका आप सभी तक ज्ञानवान और मजेदार आर्टिकल पहुंचाना है, ताकि आपको हर दिन नई जानकारी प्राप्त हो सके।

Articles: 63

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *